इटली जर्मनी का एकीकरण Italy Germany Info


इटली जर्मनी का एकीकरण – Italy Germany Unification

इटली जर्मनी का एकीकरण के इतिहास में  19 वी सदी के पूर्वाध्र्द में इटली में 13 राज्य थे.

इटली के एकीकरण का जनक जोसेफ मेजिनी को माना जाता है.



मेजिनी का जन्म जेनेवा में हुआ था.

इटली के एकीकरण में सबसे बड़ा बाधक आस्ट्रिया था.

इटली की समस्या को काउंट कावूर ने अंतर राष्ट्रीय समस्या बना दिया.

इटली के एकीकरण की तलवार गैरी बाल्डी को कहा जाता है.

इटली के एकीकरण का श्रेय मेजिनी, काउंट कावूर और गैरीबाल्डी को दिया जाता है.

यंग इटली की स्थापना 1831 ई में जोसेफ मेजिनी ने की.

गैरीबाल्डी लाल कुरती नाम से सेना का संगठन ने किया था.

कार्बोनरी सोसायटी का संस्थापक गिवर्टी था.

विक्टर एमैनुएल सार्डिनिया का शासक था.

इटली के एकीकरण की शुरुआत लोम्बार्डी और सार्डिनिया राज्यों के मेल से हुई.

इटली राष्ट्र का जन्म दो अप्रैल 1860 ई को माना जाता है.

1871 ई में रोम को संयुक्त इटली का राजधानी घोषित किया गया.

यदि समाज में क्रांति लानी हो तो क्रांति का नेतृत्व नवयुवको के हाथ में दे दो, यह कथन जोसेफ मेजिनी का है.

इटली का एकीकरण 1871 ई में काउंट कावूर ने किया.

इटली की एकता का जन्मदाता नेपोलियन था.

इटली जर्मनी का एकीकरण

इटली जर्मनी का एकीकरण

 

जर्मनी का एकीकरण

जर्मनी का एकीकरण बिस्मार्क ने किया. बिस्मार्क प्रशा के शासक विलियम प्रथम का प्रधानमन्त्री था.

जर्मनी का सबसे शक्तिशाली राज्य प्रशा था.

बिस्मार्क जर्मनी का एकीकरण प्रशा के नेतृत्व में चाहता था.

विलियम को जर्मन संघ के सम्राट का ताज आठ फरवरी 1871 ई में पहनाया गया.

बिस्मार्क को सबसे अधिक भय फ्रांस से था.

जर्मनी में राष्ट्रीयता का संदेशवाहक नेपोलियन बोनापार्ट को माना जाता है.

जर्मनी राष्ट्रीयसभा को डायट के नाम से जाना जाता था, यह फ्रेंकफर्ट में होती थी.

आस्ट्रिया का चांसलर मेटरनिख था.

एकीकृत जर्मन राष्ट्र के निर्माण में राके, बोमर, लसर इत्यादि दार्शनिको ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

फ्रैंकफर्ट संविधान सभा का गठन मई, 1848 ई में किया गया.

विलियम प्रथम के शासनकाल में प्रशा का रक्षामंत्री वानरुन और सेनापति वान माल्टेक था.

तेईस सितम्बर 1862 ई को बिस्मार्क प्रशा का चांसलर बना.

विलियम प्रथम ने बिस्मार्क को बाजीगर कहा था.

सेरेजोवा का युद्ध में 1866  ई आस्ट्रिया ने प्रशा के आगे आत्म समर्पण कर दिया.

23 अगस्त 1866 ई के प्राग संधि के तहत आस्ट्रिया जर्मन संघ में शामिल हुआ.

फ्रांस और प्रशा के बीच सेडान का युद्ध 15 जुलाई 1870 ई को हुआ.

नेपोलियन तृतीय ने प्रशा के आगे एक सितम्बर 1870 को आत्मसमर्पण किया.

बिस्मार्क ने जर्मनी के सम्राट विलियम प्रथम का राज्याभिषेक वर्साय के राजमहल में किया.

फ्रैंकफर्ट की संधि दस मई 1871 ई को फ्रांस और प्रशा के बीच हुई.

सूडान के युद्ध के बाद जर्मनी का एकीकरण सम्भव हो सका.

 

सम्बंधित पोस्ट

History Information

 

indiahindiblog

India Hindi Blog हिंदी भाषी लोगो के लिए बनाया गया है, ये भारत के उन सभी लोगो के लिए है जो खुद ऑनलाइन पढ़ना चाहते है, अपने ज्ञान को बढाना चाहते है. हर तरह की जानकारियों से अपने आपको अपडेट रखना चाहते है. इसलिए हमारे द्वारा इस ब्लॉग को आपके लिए तैयार किया गया. आप इस ब्लॉग में सभी तरह की जानकारियों का ज्ञान ले सकते है. इस ब्लॉग में आपको चिकित्सा, टेक्नोलॉजी, खेल, सामान्य ज्ञान, इतिहास, अनमोल विचार, इन सभी का संग्रह आपके लिए यहाँ पर उपलब्ध है.

You may also like...

4 Responses

  1. Raju Raju says:

    Jai shiree Ram

  2. Tejpal says:

    It is very par full

  3. Satya kumar says:

    10th ke test online in hindi

  4. Amrit raj pandey ji says:

    Nice lines

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *