जंगल हमें सिखाता है Forest Education


जंगल हमें सिखाता है जानिए जगल हमें क्या सिखाता है

प्रस्तावना जंगल हमें सिखाता है के बारे में सबसे बड़ी बात है कि जंगल है तो जीवन है. जंगल में तरह तरह के पक्षी, पशु वृक्ष हमें दिखते है जंगल में जो पेड है, वह हमारी दूषित वायु को लेकर स्वच्छ आक्सीजन प्रदान करते है, जिससे हम जीवित रहते है, जंगल हमारी अधिकतम आवश्यकताओं को पूरा करके हमें सुखद जीवन प्रदान करते है. जंगलों में तरह तरह के पेड़ो से हमें अपनी आवश्यकता की पूर्ति के साधन मिलते है. जंगल एक गुरु की तरह होता है. वह हमें अनेक वस्तुओं के बारे में सिखाता है इस प्रकार जंगल बहुत महत्वपूर्ण एवं उपयोगी है. हमारे देश में जंगलों का प्रतिशत निरंतर घटता जा रहा है. हमारे देश में आबादी के तीव्र गति से बढ़ने के कारण वृक्षों का ह्रास हो रहा है. हमें जंगलो के महत्व को समझकर उनकी रक्षा करनी चाहिए.




जंगल हमें सिखाता है Forest Education

जंगल हमें सिखाता है Forest Education

जंगल हमें अधिकाधिक शिक्षा प्रदान करता है. वह हमें जीवन में सुख प्राप्त करने के लिए हर साधन देता है. जंगल द्वारा हमें निम्नलिखित शिक्षाएँ मिलती है.

 

दान देने की शिक्षा

जंगल द्वारा हम अपनी कई आवश्यकताओं की पूर्ति करे है. जंगल हमें कई वस्तुए जैसे गौंद, लाख, हरे, बहेरा, इमारती लकड़ी, प्राणवायु आक्सीजन, दवाईया, ईधन, आदि दान में देता है. जंगल भूमि के कटाव को रोकते है. बाढ़ के प्रकोप से बचाते है. जंगल अपनी हर शाखाओं, पत्तिओं, फूलों, फलों व प्रत्येक अंग का दान कर देता है. वह हमें सिखाता है कि जब तक हमारे पास दान देने की कोई वस्तु है और उसकी किसी और को जरुरत है, तो हमें दान देना चाहिए. आज के युग में दानदाताओं के संख्या बहुत कम हो गई है. हमें अधिक से अधिक दयालु बनना चाहिए. व दान देकर लोगों की आवश्कताओं की पूर्ति करनी चाहिए.

 

मदद करने की शिक्षा

जंगल हमारी कई तरह से मदद करता है. वह बाढ़ के प्रकोप को रोकता है. भूमि को उपजाऊ बनाये रखता है. वर्षा के बादलों को अपनी और आकर्षित करके वर्षा कराने में सहायक होता है. जंगल और भी कई प्रकारों से हमारी मदद करता है. जैसे किसी रोगी के रोग को दूर करने की लिए तरह – तरह की ओषधियाँ देता है. शिक्षा प्राप्त करने के लिए कागज़ उपलब्ध करवाता है. जलाऊ लकड़ी को प्रदान कर हमारे ईधन की पूर्ति करता है. अत: जंगल खुद तो दूसरों की मदद करता है, साथ ही साथ दूसरों को भी सिखाता है कि वे किसी अन्य व्यक्ति की मदद करे.

जंगल हमें सिखाता है Forest Education

जंगल हमें सिखाता है Forest Education

 

त्याग और परोपकार की भावना का संदेश

गल हमें त्याग और परोपकार करने की शिक्षा देता है. वह अपने सम्पूर्ण अंगों का मदद करते समय दान कर देता है. वह त्याग का अनुपम उदाहरण प्रस्तुत करता है. जंगल बहुत परोपकारी है. वह हमेशा परोपकार के कार्य करता है. उसके द्वारा अनेक लोगों के कष्ट दूर होते है. जंगल के द्वारा बहुत से लोगों का घर चलता है. जंगल के द्वारा बहुत से लोग लाभांवित होते है. व जंगल के इस परोपकार को समझ नहीं पाते. सभी लोगों को जंगल के त्याग और परोपकार को समझना चाहिये और उन्हें खुद को भी त्याग और परोपकार करना चाहिए.

 

जंगल का प्राकृतिक सोंदर्य

जंगल का सोंदर्य अनुपम होता है. उसकी हरियाली देखकर मन रोमांच का अनुभव करता है. जंगल के सुन्दर-सुन्दर पशु पक्षी व वृक्ष देखने को मिलते है. जंगल में रंग बिरंगे फूलों को देखकर मन प्रसन्नचित्त हो जाता है. जंगल में जाते ही एक सुगन्धित माहोल मिलता है, जहाँ आप शांति का अनुभव कर सकते है. अपने तनाव को कम कर सकते है और फिर प्रसन्न होते है. जंगल के रमणीय सोंदर्य का वर्णन असीमित है. जंगल के द्वारा हमें स्वच्छता और सुन्दरता बनाये रखने की सलाह मिलती है. इस प्रकार जंगल के सोंदर्य की कोई सीमा नहीं है, वह तो असीमित है.

 

जंगल में मेरे अनुभव

हम बचपन से ही जंगल के बारे में अपनी दादी और नानी से कविता और कहानियाँ सुनते रहे है. जंगल के ऊपर कई कार्यक्रम हमने टेलीविजन पर भी देखे है. पेंच अभयारण्य में रहने वाले मोगली के कार्यक्रम को देखकर मुझे बहुत अच्छा लगता है. जंगल-जंगल पता चला है, चड्डी पहनकर फूल खिला है. ये पंक्तिया मन में उत्साह, उमंग और रोमांच उत्पन्न कर देती है. मैंने कई जंगलो व अभ्यारण्यों को देखा है. पेंच अभयारण्य उनमे से एक है. वहाँ के सोंदर्य को देखकर मैं बहुत ही अंचभित हो गया हूँ. वहाँ अनेक पशु पक्षी को मैंने करीब से देखा है. इस प्रकार मुझे जंगल के बारे में अनुभव है, पर बहुत कम है, क्योकि जंगल की कोई सीमा नहीं है, जंगल के बारे में हमें अधिक से अधिक जानना चाहिए, क्योकि जंगल के कारण ही जीवन है, जंगल के ऊपर कई किताबें लिखी गई है. द जंगल बुक उनमें से एक है.

 

उपसंहार

जंगल हमें सिखाता है जंगल हमारी कई तरह से मदद करते है. हमें कई वस्तुए प्रदान करते है, प्राणवायु ऑक्सीजन देते है. हमें कई तरह की शिक्षा देते है, तो हमें भी जंगलों का विनाश नहीं करना चाहिए. जंगलों की प्राकृतिक सुन्दरता को बनाये रखना चाहिए. जंगल है तो जीवन है, नहीं तो हमारा विनाश हो जायेगा हम अन्न के बिना दो दिन तक जीवित रह सकते है, पानी के बिना एक दिन तक जीवित रह सकते है, पर जंगलों में वृक्षों से मिलने वाली आक्सीजन के बिना कुछ क्षण भी जीवित नहीं रह सकते. अत: में, मैं कुछ विचार पंक्तियों के माध्यम से प्रकट करना चाहूँगा.

कितने सुन्दर लगते है ये वृक्ष

वृक्षों की हरियाली देती है खुशहाली का संदेश

नदियों का बहता जल देता है प्रकृति का संदेश

तूफानों से बचती नाव देती है संघर्ष का सन्देश

पक्षियों का कलरव देता है प्रसन्नता का संदेश,

कितने सुन्दर है ये जंगल देते है शांति एवं प्रसन्नता का महासंदेश.

 

सम्बन्धित पोस्ट

वन संरक्षण क्यों जरुरी है

 

indiahindiblog

India Hindi Blog हिंदी भाषी लोगो के लिए बनाया गया है, ये भारत के उन सभी लोगो के लिए है जो खुद ऑनलाइन पढ़ना चाहते है, अपने ज्ञान को बढाना चाहते है. हर तरह की जानकारियों से अपने आपको अपडेट रखना चाहते है. इसलिए हमारे द्वारा इस ब्लॉग को आपके लिए तैयार किया गया. आप इस ब्लॉग में सभी तरह की जानकारियों का ज्ञान ले सकते है. इस ब्लॉग में आपको चिकित्सा, टेक्नोलॉजी, खेल, सामान्य ज्ञान, इतिहास, अनमोल विचार, इन सभी का संग्रह आपके लिए यहाँ पर उपलब्ध है.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *