वास्तु विज्ञान के नियम आपके घर के हिसाब से

आपके घर के लिए महत्वपूर्ण वास्तु विज्ञान के नियम

क्या आप जानते है कि आपके घर का वास्तु किस तरह का होना चाहिए? हमें किन बातो का ध्यान घर के वास्तु के हिसाब से रखना चाहिए? तो आइये चलो देखे कुछ वास्तु विज्ञान के नियम जो हमारे घर के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है.




वास्तु विज्ञान के नियम

वास्तु विज्ञान के नियम

 

घर या ऑफिस का मुख्य द्वार टुटा हुआ नहीं होगा चाहिए.

 

खिड़की के टूटे हुए काँच तुरंत बदल दिए जाए.

 

मकान आगे से संकरा और अन्दर से फैला हुआ हो.

 

प्रवेश द्वार के सामने बाथरूम या संडास न हो.

 

घर के खिड़की दरवाजे स्काई ब्लू, आइवरी, पिस्ता या सफेद रंग के हो, लाल रंग के कदापि नहीं हो.

 

घर के दरवाजे के सामने खम्भा न हो. दरवाजे अन्दर की और खुलते हो.

 

घर के बाहर तुलसी, गुलाब, चमेली आदि हो तो बेहतर है. नीम्बू, केक्ट्स जैसे काटेदार पौधे न लगाये.

 

घर में दिवार पर महाभारत रोते हुए बालक, स्त्री, गरीब भिखारी, युद्ध आदि के चित्र न लगाये.

 

बैठक में झाड़ू व कचरा पेटी न रखे.

 

पूजा घर में सदैव उजाला हो. पूजा घर सीढियों के नीचे न हो.

 

शयन कक्ष में पूजा का स्थान न हो. पूजा का स्थान मंदिर या पिरामिड टाइम पो.

 

रसोईघर में चप्पल आदि पहनकर न जाए.

 

रसोईघर में लाल, नीले गहरे रंग का प्रयोग न करें.

 

तिजोरी कक्ष में संगमरमर का उपयोग ठीक नहीं.

 

टेबल पर काँच न रखे. इससे स्मृति नाश होता. उठते ही दर्पण में चेहता न देखें

 

डायरींग टेबल गोल, अंडाकार, चौकोर न हो.

 

व्यापार स्थल पर कुर्सियाँ दे के गुणन फल में रखे. स्वयं की कुर्सी उसमें नहीं गिनें.

 

पानी का मटका काले रंग का न हो. पानी के पास झूठे बर्तन न रखे.

 

दीवाल के एक कोने में न बैठे.

 

सोते समय मोबाइल, टेलीफोन आदि दूसरे कक्ष में ही रखे. सोते समय सिर दक्षिण दिशा में रहे.

 

घर में अलमारी को उत्तर दिशा में रखे. इससे घर में समृद्धि रहेगी.

 

घर में रसोई घर दक्षिण पूर्व दिशा में हो. भोजन बनाते समय पूर्व दिशा की तरफ मुहँ करके खड़ा रहना चाहिए. इससे बीमारियाँ नहीं आती है.

 

घर के स्वामी का कमरा दक्षिण पश्चिम में हों. इससे घर में अनुशासन रहेगा. सुख समृद्धि रहेगी.

 

विद्यार्थी उत्तर पूर्व में मुहँ करके अध्ययन करे. ऐसा करने से उनकी बोद्धिक प्रतिभा का विकास होगा.

 

बच्चो की पढने की पुस्तको घर के दक्षिण पश्चिम में रखी हो.

 

तुलसी का पौधा बच्चो के कमरे में रखने से उनकी बुद्धि का विकास होता है.

 

पुस्तकों का पढ़ते समय उल्टा रखने से स्मृति का ह्रास होता है.

 

सम्बन्धित पोस्ट

सफलता के सूत्र हिंदी में

indiahindiblog

India Hindi Blog हिंदी भाषी लोगो के लिए बनाया गया है, ये भारत के उन सभी लोगो के लिए है जो खुद ऑनलाइन पढ़ना चाहते है, अपने ज्ञान को बढाना चाहते है. हर तरह की जानकारियों से अपने आपको अपडेट रखना चाहते है. इसलिए हमारे द्वारा इस ब्लॉग को आपके लिए तैयार किया गया. आप इस ब्लॉग में सभी तरह की जानकारियों का ज्ञान ले सकते है. इस ब्लॉग में आपको चिकित्सा, टेक्नोलॉजी, खेल, सामान्य ज्ञान, इतिहास, अनमोल विचार, इन सभी का संग्रह आपके लिए यहाँ पर उपलब्ध है.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *