Buddha Short Story


Buddha-बुद्ध के आसूं

Buddha Short Story

Buddha Short Story

एक बार महात्मा बुध्द एक बगीचे में आम के पेड के नीचे विश्राम कर रहे थे. बगीचे में कुछ बच्चे खेल रहे थे. खेलते खेलते वे आम के पेड पर पत्थर मारकर आम तोड़ने लगे. एक पत्थर महात्मा बुध्द के मस्तक पर आकर लगा और खून बह निकला. बच्चे कर गए. वे महात्मा बुध्द के पास आकर उनके चरण पकड़ कर माफ़ी मांगने लगे. महात्मा बुध्द की आँखे आसुंओ से भीगी हुई थी. वे बच्चो से बोले, मुझे कोई कष्ट नहीं है. तो बच्चो ने पूछा की आपकी आखो में आसू किसलिए है ? बुध्द विनम्रता से बोले, तुमने जब पेड को पत्थर मारा तो इसने तुम्हे मीठे फल दिए और जब मुझे पत्थर मारा तो मैं तुम्हे सिवाय भय के कुछ नहीं दे सका, मैं इसलिए दुखी हूँ.




सम्बंधित पोस्ट

Ajab Gajab General Knowledge

 

indiahindiblog

India Hindi Blog हिंदी भाषी लोगो के लिए बनाया गया है, ये भारत के उन सभी लोगो के लिए है जो खुद ऑनलाइन पढ़ना चाहते है, अपने ज्ञान को बढाना चाहते है. हर तरह की जानकारियों से अपने आपको अपडेट रखना चाहते है. इसलिए हमारे द्वारा इस ब्लॉग को आपके लिए तैयार किया गया. आप इस ब्लॉग में सभी तरह की जानकारियों का ज्ञान ले सकते है. इस ब्लॉग में आपको चिकित्सा, टेक्नोलॉजी, खेल, सामान्य ज्ञान, इतिहास, अनमोल विचार, इन सभी का संग्रह आपके लिए यहाँ पर उपलब्ध है.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *