Category: Hindi Stories

जगदीश चन्द्र माथुर 0

जगदीश चन्द्र माथुर Life Introduction

जगदीश चन्द्र माथुर का जीवन परिचय श्री जगदीश चन्द्र माथुर का जन्म १६ जुलाई सन १९१७ में उत्तर प्रदेश के खुर्जा नगर में हुआ. आपके ऊपर माता पिता के त्याग तपस्या और संस्कारित जीवन का अमिट प्रभाव पड़ा. नाटको में विशेष रूचि होने के कारण छात्र जीवन से ही आपको रंगमंच के सम्पर्क में आने का अवसर मिला....

संयुक्त परिवार Hindi Story 0

संयुक्त परिवार एक हिंदी कहानी Hindi Story

संयुक्त परिवार हिंदी कहानी के पात्रो का परिचय संयुक्त परिवार  के इस पारिवारिक हिंदी कहानी के पात्र जगदीश – परिवार का मुखिया बड़ा भाई इस पारिवारिक हिंदी कहानी की पात्र मालती – जगदीश की पत्नी इस पारिवारिक हिंदी कहानी के पात्र प्रदीप – सबसे छोटा भाई इस पारिवारिक हिंदी कहानी की पात्र सुमन – प्रदीप की बेटी इस पारिवारिक हिंदी...

Vishnu Prbhakar विष्णु प्रभाकर 0

विष्णु प्रभाकर के बारे में

विष्णु प्रभाकर का जीवन परिचय विष्णु प्रभाकर का जन्म २१ जून सन १९१२ ई को ग्राम मीरनपुर, मुजफ्फर नगर उत्तरप्रदेश में हुआ. श्री विष्णु प्रभाकर मानवतावादी एकांकीकार है. डॉ नगेन्द्र के शब्दों में आपके साहित्य की मुलात्मा आपका सहज मानव गुण है. इन्होने यथार्थ के धरातल पर आदर्श की अवतारणा की है. मानव प्रवृत्तियों का विशलेषण करके उनमे...

Story in Hindi - मीता की कहानी 0

मीता की कहानी Hindi Story

मीता के स्नेहबंधता  के ऊपर हिंदी कहानी मीता – माँ ये है मीतु मैत्रेयी, धुर्व ने परिचय करवाया तो देखती ही रह गई, कटे बाल के नीचे एक छोटा सा चेहरा वह भी आधा धुप के चश्मे से ढका हुआ. गहरे नील रंग के ऊपर चटख पीले रंग का स्वेटर उसकी बुनाई. इतनी प्यारी कि कोई और होता...

मालती जोशी 0

मालती जोशी परिचय व कहानी

मालती जोशी जी का जीवन परिचय और कुछ बाते सुप्रसिद्ध महिला कहानीकार श्रीमती मालती जोशी का जन्म और गाबाद महाराष्ट्र के मध्यवर्गीय मराठी परिवार में ४ जून सन १९३४ ई को हुआ था. किशोरावस्था से ही इन्होने लिखना प्रारम्भ कर दिया था. प्रारम्भ में कुछ गीत लिखे जो कवि सम्मेलनों के माध्यम से चर्चित हुए. आप बच्चो के...

Hindi Story - नीरा की कहानी 0

नीरा की कहानी Hindi Story

नीरा के ऊपर एक कहानी नीरा – अब और आगे नहीं, इस गंदगी में कहाँ चलते हो, देवनिवास थोड़ी दूर और कहते हुए देवनिवास ने अपनी साइकिल धीमी कर दी, किन्तु विरक्त अमरनाथ ने ब्रेक दबाकर ठहर जाना ही उचित समझा. देवनिवास आगे निकल गया. मौलसीरी का वह सघन वृक्ष था, जो पोखर से सड़ी हुई दुर्गन्ध आ...

जय शंकर प्रसाद 0

जय शंकर प्रसाद के बारे में कुछ बाते

जय शंकर प्रसाद आधुनिक हिंदी साहित्य के आधार स्तम्भ और छायावादी काव्य के प्रवर्तक श्री जय शंकर प्रसाद का जन्म वाराणसी उत्तर प्रदेश के प्रसिद्ध सुघनी साहू परिवार में ३० जनवरी सन १८८९ ई को हुआ था. अल्प आयु में पिता की मृत्यु हो जाने पर इन्हें अनेक कठिनाइयों का सामना करना पड़ा. प्रसाद जी का कवि रूप...

धूपगढ़ हिंदी कहानी, Hindi Story 0

धूपगढ़ की कहानी Hindi Story

प्रकृति के सौन्दर्य कहे जाने वाले धूपगढ़ की कहानी धूपगढ़ के बारे कहाँ जाए तो समय की डाली पर सुबह और सांझ के दो फुल खिले है. दोनों का वर्ण एक होते हुए भी सुगंध भिन्न भिन्न है. दोनों, दो समय स्थितियों के प्रस्थान बिंदु है. वसुंधरा पर मासूम रंगों की अदृश्य कुंची से उकेरे जाने वाले दिक्काल...

जननी माता की कहानी Hindi Story 0

जननी माता की कहानी Hindi Story

मातृभूमि जगत जननी माता की कहानी जन्मभूमि जननी माता के ऊपर एक प्रेरक कहानी खास आपके लिए मैं अपनी पहली यात्रा से स्वदेश लौट रहा था. लगभग डेढ़ वर्ष के प्रवास के बाद. यूरोप में कुछ दिन बिताये पर घर पहुचने की उत्कंठा बड़ी तीव्र थी, कार्यक्रम थोडा काटा और तेहरान से वायुयान चला तो बस मौसम बहुत...

विद्या निवास मिश्र 1

विद्या निवास मिश्र परिचय

श्री विद्या निवास मिश्र के बारे में जीवन परिचय विद्या निवास मिश्र जी का जन्म गौरख पुर जिले के पकड़ डीहा ग्राम में सन १९२६ में हुआ था. आपकी प्रारम्भिक शिक्षा मूलतः गाव में ही हुई. उच्च शिक्षा के लिए इलाहाबाद गए जहा से संस्कृत में एम्.ए किया . उसके बाद गौरखपुर विश्वविद्यालय में शोधकार्य किया और पी...