Category: Online Education

Online Education

Satpuda Ke Ghane Jangal Bhawani Prsaad Mishr 0

Satpuda Ke Ghane Jangal Bhawani Prsaad Mishr

Satpuda Ke Ghane Jangal – सतपुड़ा के घने जंगल भवानीप्रसाद मिश्र जीवन परिचय Satpuda Ke Ghane Jangal  श्री भवानीप्रसाद मिश्र  का जन्म २३ मार्च १९१३ को होशंगाबाद के समीप टिकरिया ग्राम में हुआ था. नरसिंह पुर तथा होशंगाबाद में उन्होंने हाई स्कूल तक अध्ययन किया. जबलपुर के रोबर्टसन कालेज से उन्होंने बी ए की परीक्षा उतीर्ण की. सन...

पंचवटी का सौदर्य 1

पंचवटी का सौदर्य Panchavati

पंचवटी का सौदर्य पंचवटी का सौदर्य जिसमे पंचवटी मैथलीशरण गुप्त ने प्रकृति के सौदर्य का दर्शाया है. आँखों के आगे हरियाली रहती है हर घड़ी यहाँ जहाँ तहाँ झाड़ी में झिरती है झरनों की झड़ी यहाँ वन की एक-एक हिमकणिका जैसी सरस और शुचि है, क्या सौ-सौ नागरिक जनों की वैसी विमल रम्य रूचि है? सन्दर्भ प्रसंग –...

प्रकृति के क्रिया कलापों का वर्णन 0

प्रकृति के क्रिया कलापों का वर्णन

प्रकृति के क्रिया मैथलीशरण गुप्त द्वारा प्रकृति के क्रिया कलापों का वर्णन है बिखरे देती वसुंधरा मोती सबके सोने पर, रवि बटोर लेता है उनको सदा सबेरा होने पर. और विरामदायनी अपनी संध्या को दे जाता है, शून्य श्याम तनु जिससे उसका नया रूप झलकता है. सन्दर्भ प्रसंग – प्रस्तुत पंक्तियो में कवि मैथलीशरण गुप्त ने प्रकृति के...

मैथलीशरण गुप्त द्वारा रचित स्वच्छ चाँदनी के बारे में हिंदी भाषा में जानकारी 0

स्वच्छ चाँदनी मैथलीशरण गुप्त

क्या ही स्वच्छ चाँदनी है यह है क्या ही निस्तब्ध निशा, है स्वच्छ सुमंद गंध वह निरानंद है कौन दिशा? – स्वच्छ चाँदनी बंद नहीं, अब भी चलते है नियति नटी के कार्य कलाप पर कितने एकांत भाव से कितने शांत और चुपचाप. सन्दर्भ प्रसंग – प्रस्तुत पद्यांश श्री मैथलीशरण गुप्त द्वारा रचित पंचवटी से अवतरित है. यहाँ पर...

चारू चन्द्र की चंचल किरणें 0

चारू चन्द्र की चंचल किरणें

चारू चन्द्र की चंचल किरणें खेल रही है जल थल में, स्वच्छ चाँदनी बिछी हुई है अवनि और अम्बल में. पुलक प्रकट करती है धरती हरित तृणों की नौकों से, मानो झूम रहे है तरु भी मंद पवन के झोकों से. सन्दर्भ प्रसंग – प्रस्तुत पद्याश राष्ट्रकवि मैथलीशरण गुप्त द्वारा रचित पंचवटी खंडकाव्य से है. यहाँ पर कवि...

पंचवटी का सारांश 0

पंचवटी का सारांश Summary of Panchavati

पंचवटी का सारांश पंचवटी राष्ट्रकवि मैथलीशरण गुप्त का प्रसिद्ध खंडकाव्य है. भगवान श्री राम ने सीता और लक्ष्मण सहित चौदह वर्ष की वनवास अवधि में तेरह वर्ष पंचवटी नामक वन में बिताये थे. पंचवटी महाराष्ट्र में नासिक के निकट गोदावरी नदी के तट पर स्थित है. पंचवटी के प्राकृतिक सौन्दर्य का वर्णन इस खंडकाव्य में किया गया है....

Digital Marketing Information in Hindi - डिजिटल मार्केटिंग 0

डिजिटल मार्केटिंग Hindi Information

Digital Marketing Information – डिजिटल मार्केटिंग का ज्ञान ऑनलाइन Digital Marketing के बारे में आप जो जानना चाहते है ! क्या वो आपको मिला ? या आप उसे अभी भी अच्छे तरह से जानना और समझना  चाहते है – तो आइये और जानिये डिजिटल मार्केटिंग के बारे यह क्या होता है ? और किस तरह से काम करता है....

नोट्स का महत्व Note Importance Information 0

नोट्स का महत्व Note Importance Info

नोट्स का महत्व Students के लिए अपने अध्ययन के लिए नोट्स का महत्व बहुत महत्वपूर्ण है नोट्स का महत्व  Education में , क्लास में नोट्स बनाने से मिलेगा फायदा -क्लास रूम में नोट्स बनाने से न केवल राइटिंग स्पीड बढ़ेगी बल्कि डॉट्स भी क्लिअर होते जायेंगे. यदि आप क्लास में नोट्स बनाते है तो इससे आपको शैक्षणिक परीक्षाओ में...

Business vocabulary hindi blog 0

Business Vocabulary व्यावसायिक शब्दावली

Business Vocabulary हिंदी भाषा Business vocabulary information in Hindi उपभोक्ता – Consumer उपभोक्ता माल – Consumer’s good अचल पूंजी – Fixed Capital फ़ालतू रुपया – Floating money मुद्रांक शुल्क – Stamp duty मुद्रा का अंतरण – Currency transfer मुद्रा प्रणाली – Monetary system मुद्रा – Currency, Money मियादी कर्जा – Terminable loan मियादी जमा – Fixed deposit मिश्रित...

School Examination Sentences Hindi Blog 0

School Examination Sentences Blog

School Examination Sentences School Examination Sentences परीक्षा और विद्यालय उसका नाम स्कूल से कट गया.  ( His name has been struck off the rolls of school  ) हमें स्कूल को देर हो गई है  ( We are late for school ) लो छुट्टी की घंटी बज गई. ( There goes the last bell  ) अध्यापक ने विद्यार्थी को...