Satpuda Ke Ghane Jangal Me Sade Gale Patte

Satpuda Ke Ghane Jangal Me Sade Gale Patte

सड़े पत्ते गले पत्ते

हरे पत्ते जले पत्ते

वन्य पथ को ढक रहे से

पंक दल में पले पत्ते

चलो इन पर चल सको तो

दलो इनको दल सको तो

ये घिनोने घने जंगल

उघते अनमने जंगल.





सन्दर्भ और प्रसंग – कवि ने सतपुड़ा के इन जंगलो में पाए जाने वाले सड़े गले पत्तो तथा कीचड़ का वर्णन किया है आइये देखे कवि ने इस पंक्ति में क्या व्याख्या की है.

 

कवि के द्वारा व्याख्या – सतपुड़ा के इन घने जंगलों में आपको एक तरफ़ा मार्ग दिखाई नही देगा. यहाँ अन्दर आने पर आप एक तरह से भ्रमित हो जायेंगे. कवि कहते है कि इन रास्तों पर आपको सड़े हुए, गले हुए, हरे भरे सुखकर जले हुए और कीचड़ में सने हुए पत्तो का बड़ा समूह है जिसके माध्यम से आप जब भी इस जंगल में प्रवेश करोगे तो आपको इन बातो का बिलकुल भी पता नही रहेगा कि आप किस पर पाँव रखकर चल रहे है और इन्ही की वजह से यहाँ पर जाना बहुत ही मुश्किल बन जाता है.

Satpuda Ke Ghane Jangal Me Sade Gale Patte

Satpuda Ke Ghane Jangal Me Sade Gale Patte

कवि ने इन्ही चुनोतियो को ध्यान में रखते हुए सभी को इन रास्तो पर चलने के लिए कहा है. कवि ने इस चुनोती को देते हुए यह कहा है कि अगर आप में साहस है आप निडर है तो आप इस परीक्षा में आकर अपने साहस और धैर्य को माप सकते है. कवि कहता है कि अगर तुम इन सड़े हुए पत्तो वाले, दलदल वाले रास्तो पर चलकर आगे बढ़ने कि हिम्मत दिखाते होतो आइये और इन चुनौतियो को पूरा करो. मगर मन में इसकी सुन्दरता को ध्यान में रखे यह जंगल सुन्दर नही है, यह जंगल घृणा पैदा करने वाले है, यह जंगल हमेसा ऊँघते और अनमने से रहते है.

नोलेज एंड इनफार्मेशन

indiahindiblog

India Hindi Blog हिंदी भाषी लोगो के लिए बनाया गया है, ये भारत के उन सभी लोगो के लिए है जो खुद ऑनलाइन पढ़ना चाहते है, अपने ज्ञान को बढाना चाहते है. हर तरह की जानकारियों से अपने आपको अपडेट रखना चाहते है. इसलिए हमारे द्वारा इस ब्लॉग को आपके लिए तैयार किया गया. आप इस ब्लॉग में सभी तरह की जानकारियों का ज्ञान ले सकते है. इस ब्लॉग में आपको चिकित्सा, टेक्नोलॉजी, खेल, सामान्य ज्ञान, इतिहास, अनमोल विचार, इन सभी का संग्रह आपके लिए यहाँ पर उपलब्ध है.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *