SEO Interview Question Answer Information

SEO Interview Question Answer

The latest SEO interview question answer for all person. एस.ई.ओ से सम्बंधित इंटरव्यू में पूछे जाने वाले सभी तरह के प्रश्न और उत्तर आपके लिए हिंदी में उपलब्ध है. आप इन सभी प्रश्न उत्तर के द्वारा अपने इंटरव्यू को पूरी तरह से क्लियर कर सकते है एवं अपना जॉब पूरी तरह से सिक्योर कर सकते है.



SEO Interview Question Answer

SEO Interview Question Answer

 

एस. ई. ओ क्या है? ( What is SEO? )

सरल शब्दों में कहा जाए तो SEO डिजिटल मार्केटिग का एक पार्ट है जिसके माध्यम से हम अपने वेबसाइट का प्रमोशन सर्च इंजन पर करते है.

 

SEO का फूलफोम नाम क्या है?

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन – Search Engine Optimization

 

Sitemap क्या है?

Sitemap वेबसाइट का एक महत्वपूर्ण पार्ट है जिसके माध्यम से हमारे ब्लॉग या वेबसाइट को सर्च इंजन क्रोल करता है.  Sitemap क्रिएट करने से यह हमारे वेबसाइट के सारे लिंक्स को एक तरह से अपने पास एक बंच के रूप में इकट्ठा कर लेता है. यह एक तरह से हमारा Index पेज ही होता है. जहाँ पर आपको एक साथ हमारे सभी लिंक्स का समावेश मिल जाता है.

Sitemap को किस तरह से जनरेट करते है?

Sitemap जनरेट करने के निम्न प्रकार की वेबसाइट है

  • https://www.xml-sitemaps.com/
  • https://xmlsitemapgenerator.org/
  • http://www.web-site-map.com/
  • https://freesitemapgenerator.com/
  • http://smallseotools.com/xml-sitemap-generator/

 

Sitemap कहाँ पर सबमिट होता है?

Sitemap वेबमास्टर के Search Console में Sitemaps option में सबमिट किया जाता है.

 

Robots क्या है?

Robots.txt क्रोलिंग का एक इम्पोर्टेन्ट पार्ट है. जिसके माध्यम से सर्च इंजन पर हम अपने वेबसाइट या ब्लॉग के पेज को क्रोलिंग के लिए अपने वेबसाइट पर Robots.txt के माध्यम से सेट करते है.

 

किस साल में गूगल की स्थापना हुई थी?

चार सितम्बर सन 1998 में गूगल की स्थापना हुई थी.

 

गूगल के संस्थापक कौन थे?

लैरी पेज और सर्गेई ब्रिन गूगल के संस्थापक थे.

 

वर्ड वाइड वेब क्या है?

वर्ड वाइड वेब seo interview question answer

वर्ड वाइड वेब seo interview question answer

वर्ड वाइड वेब का मतलब (www) है. जिसे टिम बैरनर्स – ली ने 1989 में इसका आविष्कार किया. यह http (हाइपर टेक्स्ट ट्रान्सफर प्रोटोकाल) के साथ काम कर करता है जिसके माध्यम से सभी तरह के URL की लोकेशन अनुसार संग्रहन में मदद मिलती है.

 

डोमेन क्या है?

डोमेन हमारे वेबसाइट और बिज़नेस को दर्शाने के लिए क्रिएट किया जाता है. जिसके माध्यम से हम अपने बिज़नेस को ऑनलाइन दर्शा सके. सरल शब्दों में कहा जाए तो इन्टरनेट पर अपने आप को या अपने बिज़नेस के प्रचार के लिए हम जो नाम सेलेक्ट करते है उसे हम डोमेन कहेंगे. इसमें आप अपने लोकेशन, कांटेक्ट, ईमेल, लोकेशन मैप के जरिये अपने आप को इन्टरनेट पर सत्यापित करते है.

 

डोमेन एक्सटेंशन क्या है?

सरल शब्दों में कहे तो जो भी नाम हम अपने डोमेन के लिए सेलेक्ट करते है उसे हम अपने बिज़नेस या जिस परपस से इन्टरनेट पर प्रमोट करना चाहते है उस केटेगिरी के अनुसार हम उसका एक्सटेंशन सेलेक्ट करते है.

उदाहरण के लिए – अगर आप एजुकेशन के लिए डोमेन सेलेक्ट कर रहे है तो आप www.xyz.edu, इस तरह का डोमेन नाम सेलेट करेंगे. अगर आपका कोई ऑर्गेनाइजेशन है तो आप www.xyz.org इस तरह का एक्सटेंशन सेलेक्ट करेंगे.

जब भी आप अपने डोमेन नाम का चयन करे तो उसका एक्सटेंशन किस तरह का होना चाहिए यह आपको सेलेक्ट करना है. उसकी अनुसार आपका डोमेन इन्टरनेट पर सर्च इंजन के माध्यम से चयनित किया जायेगा.

 

सर्वर क्या है?

सर्वर हमारे डोमेन और होस्टिंग के बीच का एक माध्यम है जिसके माध्यम से आप किसी वेबसाइट पर जो भी सर्च करते है सर्वर उसे आई पी एड्रेस के माध्यम से डोमेन कनेक्ट करता है और सम्बंधित जानकारियों को आपको पहुचाने में मदद करता है.

उदहारण के लिए – आपने देखा ही होगा की जब हम किसी गवर्नमेंट वेबसाइट या किसी अन्य वेबसाइट पर रिजल्ट या कोई एग्जाम फोम भरते है तो कभी – कभी वेबसाइट या तो लोडिंग होती रहती है या फिर ओपन ही नही होती. इस कंडीशन में आपके सामने लिखा आता है कि वेबसाइट का सर्वर डाउन है. तो जब भी आप अपने कंप्यूटर से किसी वेबसाइट पर कुछ सर्च करते है तो वह सर्वर आपके IP एड्रेस को केप्चर करके आपके द्वारा दिए गए निर्देश को Http के माध्यम से डोमेन तक पहुचाता है.

 

वेब होस्टिंग क्या होती है?

वेब होस्टिंग हमारे वेबसाइट के लिए इम्पोर्टेन्ट पार्ट है जिसके माध्यम से हमारी वेबसाइट एक होस्टिंग के माध्यम से इन्टरनेट पर होस्ट होती है. इसी के माध्यम से आप किसी भी वेबसाइट को देख सकते है. यह एक तरह से वेसा ही जेसे आप अपना घर बनाने के पहले अपने घर के लिए जगह का सिलेक्शन करते है. अपने घर के लिए आपको कितनी जगह चाहिये ये जो सिलेक्शन आप करते है वैसा ही सिलेक्शन आप अपने वेबसाइट के लिए भी करते है. आपको अपने वेबसाइट के लिए किस तरह का होस्टिंग प्लान चाहते है कितना स्पेस आपकी वेबसाइट के लिए सही रहेगा कितना ट्रैफिक आपकी होस्टिंग के माध्यम से बैलेंस हो सकता है. यह सब आप होस्टिंग के माध्यम से कर सकते है.

 

(Crawling) क्राव्लिंग क्या है?

क्राव्लिंग सर्च इंजन का एक इम्पोर्टेन्ट पार्ट है जिसके माध्यम से वह सभी वेबसाइट की रैंकिंग, पोस्ट को सभी तरह से एनालिसिस करके मैनेज करता है.

सरल शब्दों में देखे तो आप अपने वेबसाइट या ब्लॉग पर जो भी कंटेंट पोस्ट करते है उसे सर्च इंजन अपने क्राव्लिंग माध्यम से आपकी वेबसाइट को चेक करता है और सर्च इंजन पर आपकी क्वालिटी के अनुसार आपकी वेबसाइट को रैंकिंग पर रखता है. यह हर न्यू कंटेंट को हम समय पर क्राव्लिंग करता है.

 

इंडेक्सिंग क्या है?

इंडेक्सिंग सर्च कंसोल का एक इम्पोर्टेन्ट पार्ट है. जिसके माध्यम से हम अपने यू-आर-एल की इंडेक्सिंग को चेक करते है.  सर्च इंजन क्राव्लिंग के माध्यम से सभी वेबसाइट को क्रोल करते है और जिन वेबसाइट के पेज पर यूनिक कंटेंट और हाईपर लिंक्स गुड क्वालिटी कंटेंट रहता है. सर्च इंजन उसे अपने इंजन पर रैंकिंग का अनुसार इंडेक्स कर लेता है.

 

(SERP) एस.ई.आर.पी क्या है?

SERP को आप विज्ञापन ads भी कह सकते है जिसका पूरा नाम (Search Engine Result Page) है. इसका इस्तेमाल आप अपने प्रमोशन के लिए कर सकते है. जिसे आप Paid मार्केटिग के नाम से भी जानते है. इसके रिजल्ट आपको सर्च इंजन पर टॉप पर शो होते है.

 

आर्गेनिक रिजल्ट क्या है?

आर्गेनिक रिजल्ट सर्च इंजन पर एक बहुत बड़ा रोल है जिसके माध्यम से आपकी वेबसाइट पर सबसे ज्यादा ट्रैफिक लाने में आपको मदद मिलती है.

आर्गेनिक रिजल्ट seo interview question answer

आर्गेनिक रिजल्ट seo interview question answer

यह सर्च इंजन पर किसी वेबसाइट के लिए बहुत ही बड़ा चुनौतीपूर्ण काम है. आर्गेनिक रिजल्ट के लिए वेबसाइट पर रिलेवेंट कंटेंट होना चाहिए जिसके माध्यम से सर्च इंजन के क्रोव्ल वेब पेज को अपने अकोर्डिंग सर्च इंजन पर क्वालिटी कंटेंट के अनुसार रैंक प्रोवाइड करते है. जो आर्गेनिक रिजल्ट के अन्दर आता है.

 

Paid रिजल्ट क्या होता है?

Paid रिजल्ट seo interview question answer

Paid रिजल्ट seo interview question answer

Paid रिजल्ट को देखे तो यह आर्गेनिक रिजल्ट के बिल्कुल विपरीत है. आप गूगल एडवर्ड के माध्यम से सर्च इंजन पर Paid मार्केटिंग कर सकते है. इसके माध्यम से आप अपने यूआरएल को सर्च इंजन पर पहले पेज पर टॉप पोजीशन पर देख सकते है. इसी को हम Paid रिजल्ट के नाम से सर्च इंजन पर जानते है.

 

गूगल सजेशन-ऑटोकम्पलीट क्या है?

सर्च इंजन पर आप जब भी कुछ सर्च करते है तब आपको अपने आप ही आगे के वर्ड गूगल अपने आपको सुझाता है.

उदाहरण – जैसे आप कुछ भी सर्च करे जैसे कि SEO आपने सर्च करने के लिए टाइप किया. मगर आप देखेंगे कि सर्च इंजन पर आपको अपने आप SEO के आगे SEO Information, SEO Information in Hindi, SEO in Hindi, SEO Interview question and answer.

इस तरह से आपको गूगल अपने आप शब्दों के सुझाव अपने आप देता है जिससे आपको सर्च करने में ज्यादा से ज्यादा विषय चयन करने में मदद मिलती है.

 

(On-page SEO) ऑन पेज एस.ई.ओ क्या है?

ऑन पेज एस.ई.ओ एक तरह से हमारी वेबसाइट के प्रदर्शन चैक करने के लिए किया जाता है. जिसमे यह देखा जाता है कि वेबसाइट के अन्दर HTML कोडिंग, Meta Tag, Meta description, Meta keyword, Rss feeds, sitemap, alt tag, robots.txt, sitemap creation, H1 Tag आदि सभी चीजो का ध्यान हमें ऑन पेज एस.ई.ओ में रखना चाहिए.

 

ऑफ पेज एस.ई.ओ क्या है?

ऑफ पेज पर हम अपने वेबसाइट की रैंकिंग को बढ़ाने के लिए करते है. जिसमे हम अपनी वेबसाइट को अलग-अलग वेबसाइट पर प्रमोटे करते है. जिसमे हम Link building, social media, content marketing, guest posting, commenting जैसे महत्वपूर्ण काम को इसके माध्यम से करते है.

 

कीवर्ड क्या है?

सरल शब्दों में कहे तो जिस शब्द से किसी चीज को इन्टरनेट पर सबसे ज्यादा बार सर्च किया जाता है उस वर्ड को कीवर्ड कहा जाता है.

जैसे – अगर आप अपने ब्लॉग में किसी व्यक्ति के बारे में कुछ पोस्ट कर रहे है तो आप उसके कीवर्ड के अनुसार अपने ब्लॉग के कंटेंट को बनाये और उसमे अपने कीवर्ड को भी SEO के अनुसार जोड़े.

 

 

Long tail कीवर्ड क्या है?

यह अच्छे और लॉन्ग टर्म ऑरगेनिक ट्रैफिक के लिए बहुत ही बढ़िया तरीका है जिसके माध्यम से आप अपने कंटेंट को लम्बे समय तक टॉप रैंकिंग पर बनाये रख सकते है. इससे आपको यह फायदा है एक तो आपका कंटेंट और रैंकिंग टॉप पर बनी रहेगी, दूसरा यह की आपके लॉन्ग टेल कीवर्ड से आपके ऑरगेनिक ट्रैफिक में इजाफा होता रहेगा.

बड़े कीवर्ड के साथ अपने वेबसाइट का टाइटल बनाये जो लम्बे समय तक आपके लिए सुबिधा जनक हो.

 

(LSI) एल.एस.आई कीवर्ड क्या होता है?

LSI कीवर्ड को अव्यक्त सिमेंटिक इंडेक्सिंग (Latest indexing semantically) कहा जाता है. यह कीवर्ड सर्च इंजन पर आपको सर्च इंजन के अनुसार बने हुए मिलते है.

LSI एल एस आई कीवर्ड seo interview question answer

LSI एल एस आई कीवर्ड seo interview question answer

सर्च इंजन पर जो भी कीवर्ड जिस भी तरीके से सर्च इंजन पर सर्च किया जाता है. सर्च इंजन उसे अपने अन्दर की कड़ी में जोड़ लेता है.

उदाहरण के लिए आपने देखा होगा आपने सर्च इंजन पर जो कुछ भी सर्च किया होगा आप पेज के बोटम में जब जाते है तो आपको कुछ लिंक्स का समूह वहा पर बना हुआ मिलता है इन्ही समूह को हम LIS Keyword कहते है.

 

हैडिंग टैग क्या होता है?

हैडिंग टैग seo interview question answer

हैडिंग टैग seo interview question answer

जब भी हम अपने किसी कंटेंट को पोस्ट करते है तब हम अपने उस कंटेंट पर H1 लेकर H6 तक हैडिंग टैग को क्रिएट करते है जिससे हमारे कीवर्ड को सर्च इंजन और हमारे यूजर्स आसानी से समझ सके. इसे हम हेडलाइन के रूप में भी जानते है.

 

कैनोनिकल यूआरएल क्या है?

कैनोनिकल यूआरएल का वर्क सबसे अच्छे यूआरएल का चयन करना है इसका प्रमुख सन्दर्भ यह है कि जो विजिटर जिस चीज के बारे में वेब पर सर्च कर रहा है. उस यूआरएल का सिलेक्शन कैनोनिकल यूआरएल में आता है.

 

पेज टाइटल क्या है?

पेज टाइटल हमारे कंटेंट का एक तरह से फेस होता है. इसके माध्यम से आप पुरे कंटेंट में क्या लिखा हुआ है उस कंटेंट के बारे में पेज टाइटल से जान सकते है. पेज टाइटल में आप अपने कंटेंट के अनुसार कीवर्ड को टारगेट करके एक फ्रेश टाइटल करे ताकि सर्च इंजन पर आपके द्वारा पोस्ट किये गए कंटेंट को सर्च इंजन आपके टाइटल के माध्यम से यूजर्स तक पहुचा सके.

SEO Interview Question Answer

SEO Interview Question Answer

यूआरएल की परिभाषा क्या है?

यूआरएल का फुल फोम यूनिफार्म रिसोर्स लोकेटर (Uniform Resource Locator) है. यह आपके द्वारा दी गई जानकारी डोक्युमेंटस को वेब पर पहचान के लिए यूआरएल एक मिडियेटर का काम करता है.

 

एस.ई.ओ फ्रेंडली यूआरएल क्या है?

एस.ई.ओ फ्रेंडली वेबसाइट के लिए आपके वेबसाइट के सभी यूआरएल क्लीन होना चाहिए.

 

मेटा डिस्क्रिप्शन क्या है?

मेटा डिस्क्रिप्शन seo interview question answer

मेटा डिस्क्रिप्शन seo interview question answer

मेटा डिस्क्रिप्शन हमारी वेबसाइट का फेस है जिसके माध्यम से हमारे यूआरएल की पहचान सर्च इंजन पर होती है. हम अपने मेटा डिस्क्रिप्शन पर अपनी वेबसाइट के बारे में सारी जानकारी 150 अक्षरों में दर्शा देते है.

 

बैकलिंक्स क्या होती है?

हमारी वेबसाइट पर बाहर से आने वाली लिंक्स को बैकलिंक्स कहते है. हम अपने वेबसाइट के अलावा दूसरी वेबसाइट पर कमेन्ट, गेस्ट पोस्टिंग के माध्यम से जिन लिंक्स को पोस्ट करते है उन्हें बैकलिंक्स कहते है.

 

डू-फॉलो लिक्स क्या है?

डू फॉलो लिंक्स वह लिंक्स होती है जिन्हें हम दूसरी वेबसाइट पर टारगेट करते है इसके साथ ही उन वेबसाइट को नो फोलो करना है कि डू फॉलो करना है. यह हम अपने अनुसार उस वेबसाइट पर करते है जहाँ पर हम अपने यूआरएल को पोस्ट कर रहे है. डू फॉलो वेबसाइट को गूगल के क्रोल फॉलो करते है.

 

इंटरनल लिंक्स क्या होती है?

इंटरनल लिंक्स seo interview question answer

इंटरनल लिंक्स seo interview question answer

इंटरनल लिंक्स हमारे वेबसाइट के अन्दर वो लिंक्स होती है जो हमारी वेबसाइट में एक दुसरे से जुड़ी होती है. जैसे हमारी वेबसाइट पर 8 से 9 पेज है अगर हम होम पेज पर क्लिक करते है तो हमें होम पेज शो होगा मगर होम पेज पर हमें अपनी सर्विस शो कर रखा है. अगर आप उन सर्विस लिक्स पर क्लिक करते है तो आप उस सर्विस पेज पर जायेंगे जिसे आप देखना चाहते है. ऐसे ही सभी लिंक एक दुसरे से वेबसाइट में जुड़ी होती है. इन्हें ही हम इंटरनल लिंक्स कहते है.

 

आउटगोइंग लिंक्स क्या होती है?

आउटगोइंग लिंक्स वह लिंक्स होती है. जिन्हें हम दूसरी वेबसाइट या लिंक्स के लिए टारगेट करते है. जैसे आपकी दो वेबसाइट है आप अपने पहले वेबसाइट पर अपने दुसरे वेबसाइट का लिंक को जोड़ते है. इससे वह लिंक आपकी वेबसाइट से दूसरी वेबसाइट पर जा रहा है इसे ही हम आउटगोइंग लिंक्स कहेंगे.

 

बैकलिंक्स से हमें क्या फायदा है?

बैकलिंक्स से हमारे वेबसाइट का लिंक बिल्डिंग होता है. हमारा वेबसाइट सर्च इंजन पर ऊपर की रैंकिंग पर बढ़ता है.

 

सर्च इंजन पर रैंकिंग के लिए सबसे ज्यादा किस चीज का महत्व है?

सर्च इंजन पर रैंकिंग के लिए कंटेंट और बैकलिंक्स का इम्पोर्टेंस सबसे महत्वपूर्ण है.

 

पेज इंडेक्सिंग हम किस तरह से चेक करेंगे?

पेज इंडेक्सिंग seo interview question answer

पेज इंडेक्सिंग seo interview question answer

पेज इंडेक्सिंग के लिए हम गूगल वेबमास्टर टूल पर का इस्तेमाल करेंगे. इसी के माध्यम से हम अपने पेज इंडेक्स को चैक कर सकते है.

 

 

404 एरर क्या है?

404 error page seo interview question answers

404 error page seo interview question answers

404 एरर पेज एस.ई.ओ की दृष्टी से देखे तो यह किसी वेबसाइट के लिए बहुत ही जरुरी है कि उस वेबसाइट का 404 Error पेज हो. यह इसलिए जरुरी नहीं है कि गूगल आपकी वेबसाइट को इस पेज के ना होने पर पेनल्टी करेगा. बल्कि इसलिए जरुरी है क्यों कि अगर आपके वेबसाइट पर कोई व्यक्ति कुछ विषय में सर्च करता है तो उस विषय से सम्बंधित जानकारी आपके वेब पेज पर नही है तो या उस जानकारी से सम्बंधित कोई लिंक नही है तो उस दृष्टी से आपकी वेबसाइट पर यह error page दिखाई दे.

 

 

 

 

 

एंकर टेक्स्ट क्या है?

एंकर टेक्स्ट एक हाइपरलिंक की तरह काम करती है जिसके माध्यम से हम अपने कंटेंट के अन्दर किसी विशेष कीवर्ड पर हाइपरलिंक को क्रिएट करते है. इससे हमें दो तरह से फायदा है. पहला हमारे कंटेंट और प्रासंगिक होगा जिससे हमारे यूजर्स उस विषय से सम्बंधी जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट पर सम्बंधित जानकारी को चैक कर सकते है. जिससे हमारे विजिटरस की संख्या बढती है. दूसरा हमारे वेबसाइट के अन्दर इंटरनल लिंक्स क्रिएट होती है.

 

Alt Text क्या है?

किसी भी वेबसाइट में किसी भी इमेज को गूगल सर्च इंजन बिना Alt टेक्स्ट के साथ ही स्वीकार करता है. सर्च इंजन के क्रोव्ल हमारी इमेज को Alt के नाम से ही सर्च इंजन पर रैंकिंग पर रखते है. Alt टेक्स्ट एस.ई.ओ का एक पार्ट है जो ऑनपेज एस.ई.ओ में आता है.

 

गूगल पेज रैंक क्या है?

गूगल पेजरैंक, गूगल का एक तरह का कैलकुलेटर है जो सभी वेबसाइट को उनकी क्वालिटी और बैकलिंक्स के अनुसार 0/10 के अनुसार गूगल पर रैंकिंग प्रोवाइड करता है. मगर अब गूगल की तरफ से इसे एक तरह से बंद कर दिया है.

Google PageRank Checker Seo Interview Question Answers

Google PageRank Checker Seo Interview Question Answers

 

indiahindiblog

India Hindi Blog हिंदी भाषी लोगो के लिए बनाया गया है, ये भारत के उन सभी लोगो के लिए है जो खुद ऑनलाइन पढ़ना चाहते है, अपने ज्ञान को बढाना चाहते है. हर तरह की जानकारियों से अपने आपको अपडेट रखना चाहते है. इसलिए हमारे द्वारा इस ब्लॉग को आपके लिए तैयार किया गया. आप इस ब्लॉग में सभी तरह की जानकारियों का ज्ञान ले सकते है. इस ब्लॉग में आपको चिकित्सा, टेक्नोलॉजी, खेल, सामान्य ज्ञान, इतिहास, अनमोल विचार, इन सभी का संग्रह आपके लिए यहाँ पर उपलब्ध है.

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *