Sport Importance खेलो का महत्व | Importance of Play in Hindi


Sport Importance

जिस प्रकार से शिक्षा मनुष्य के सांस्कृतिक और बोद्धिक मानस को पुष्ट और संवृद्ध करती है. उसी प्रकार से खेलकूद उसकी शारीरिक संरचना को अधिक प्रोढ़ और शक्तिशाली बनाते है. इन दौनो ही प्रकार के तथ्यों की पुष्टि करते हुए एक बार महात्मा गाँधी ने कहा था. (By education, I mean all round development of a child). Sport Importance में इस प्रकार के कथन का अभिप्राय यही है कि बच्चो का सर्वंगीण विकास होना चाहिए.




अर्थात बच्चों को शैक्षिक और सांस्कृतिक वातावरण के साथ-साथ शारीरिक वृद्धि हेतु खेल-कूद, व्यायाम आदि के वातावरण का भी होना आवश्यक है. इस तरह के विचारों को अनेक शिक्षाविन्दों, चिंतकों और समाज सुधारकों ने व्यक्त किया है.

स्पोर्ट्स इम्पोर्टेंस Sport Importance – जीवन में खेलों के महत्व अधिक से अधिक रूप में दिखाई देते है. खेलों के द्वारा हमारे सम्पूर्ण अंगों की अच्छी खासी कसरत हो जाती है. सभी मांसपेशियों पर बल पड़ता है. थकान तो अवश्य होती है. लेकिन इस थकान को दूर करने के लिए जब हम कुछ विश्राम कर लेते है तब हमारे अन्दर एक अद्भुत चुस्ती और चंचलता आ जाती है. फिर हम कोई भी काम बड़ी स्फूर्ति और मनोवेगपूर्वक करने लगते है.

खेलों से हमारी खेलों में अभिरुचि बढती जाती है. इस प्रकार से हम श्रेष्ठ खिलाड़ी बनने का प्रयास निरंतर करते रहते है. खेलो को खेलने से न केवल खेलों के प्रति ही अभिरुचि बढती है अपितु शिक्षा कृषि व्यवसाय पर्यटन, वार्तालाप, ध्यान पूजा आदि के प्रति भी हमारा मन एकदम केन्द्रित होने लगता है.

खेलों के द्वारा हमारा मनोरंजन होता है. खेलों के द्वारा हमारा अच्छा व्यायाम होता है. हमारे अन्दर सहनशक्ति आने लगती है. हम संघर्षशील होने लगते है. ऐसा इसलिए की खेलों को खेलते समय हमारे खेल के साथी हमको पराजित करना चाहते है और हम उन्हें पराजित कर अपनी विजय हासिल करना चाहते है. इस प्रकार से हम जब तक विजय नहीं प्राप्त करते है. तब तक इसके लिए हम निरंतर संघर्षशील बने रहते है.

Sport Importance in Hindi

Sport Importance in Hindi

इस तरह खेलों को खेलने से हमारी हिम्मत बढती है. हम निराश नहीं होते है. हम आशावान बनकर एक कठिन और दुर्लभ वस्तु की प्राप्ति के लिए अपने विश्वास अपने बल तेज और अपने प्रयत्न को बढ़ाते चलते है. इस प्रकार इतने अपने पक्के इरादों की दौड़ से किसी अपने मंसूबों की प्राप्ति करके फूले नहीं समाते है. खेलों के खेलने से हमारा अधिक और अपेक्षित मनोरंजन होता है. इससे हमारा चिडचिडापन दूर हो जाता है. हमारे अन्दर सरसता और मधुरता आ जाती है.

हम अधिक विवेकशील, सरल और सहनशील बन जाते है. खेलों के खेलने से हमारी परस्पर सम्पर्क अधिक सुदृढ़ और घनिष्ठ बनता जाता है. फलत: हम एक उच्चस्तरीय प्राणी बन जाते है.

खेलों में खेलने से हमारे अन्दर अनुशासन का वह अंकुर उठने लगता है जो जीवन भर पल्लवित और फलित होने से कभी रुकता नहीं है. ठीक समय से खेलना नियमबद्ध होकर खेलना और ठीक समय पर खेल से मुक्त होना आदि सब कुछ नियम अनुशासन के सच्चे पाठ पढ़ाते है.

हम देखते है कि प्राचीन कालीन खेलों के अतिरिक्त मूर्तिकला, चित्रकला, नाट्यकला, संगीत कला आदि कलाए भी एक विशेष प्रकार के खेल ही है. जिनसे हमारा बोद्धिक और शारीरिक सभी प्रकार के विकास होते है. इस प्रकार से हम कह सकते है कि विविध प्रकार के खेलों के द्वारा जीवन सम्पूर्ण रूप से महान विकसित और कल्याणप्रद बन जाता है. इसलिए निसंदेह हमारे जीवन में खेलों के अत्यधिक महत्व है. अतएव हमें किसी न किसी प्रकार के खेल में सक्रिय भाग लेकर अपने जीवन को समुन्नत और सर्वोपयोगी बनाना चाहिए.

सम्बंधित पोस्टनिबंध

indiahindiblog

India Hindi Blog हिंदी भाषी लोगो के लिए बनाया गया है, ये भारत के उन सभी लोगो के लिए है जो खुद ऑनलाइन पढ़ना चाहते है, अपने ज्ञान को बढाना चाहते है. हर तरह की जानकारियों से अपने आपको अपडेट रखना चाहते है. इसलिए हमारे द्वारा इस ब्लॉग को आपके लिए तैयार किया गया. आप इस ब्लॉग में सभी तरह की जानकारियों का ज्ञान ले सकते है. इस ब्लॉग में आपको चिकित्सा, टेक्नोलॉजी, खेल, सामान्य ज्ञान, इतिहास, अनमोल विचार, इन सभी का संग्रह आपके लिए यहाँ पर उपलब्ध है.

You may also like...

1 Response

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *